तात्या टोपे (तांत्या टोपे) की जीवनी | Tatya Tope ki jivni

तात्या टोपे (तांत्या टोपे) की जीवनी हिंदी पीडीऍफ़ डाउनलोड | Tatya Tope ki jivni Hindi PDF Download |

तात्या टोपे (तांत्या टोपे) की जीवनी हिंदी पीडीऍफ़ डाउनलोड | Tatya Tope ki jivni Hindi PDF Download | के बारे में अधिक जानकारी :

इस पुस्तक का नाम : तात्या टोपे (तांत्या टोपे) की जीवनी है | इस पुस्तक के लेखक हैं : | की अन्य पुस्तकें पढने के लिए क्लिक करें : | इस पुस्तक का कुल साइज 3.42 MB है | पुस्तक में कुल 98 पृष्ठ हैं |नीचे तात्या टोपे (तांत्या टोपे) की जीवनी का डाउनलोड लिंक दिया गया है जहाँ से आप इस पुस्तक को मुफ्त डाउनलोड कर सकते हैं | तात्या टोपे (तांत्या टोपे) की जीवनी पुस्तक की श्रेणियां हैं : Biography, Uncategorized

Name of the Book is : Tatya Tope ki jivni | This Book is written by | To Read and Download More Books written by in Hindi, Please Click : | The size of this book is 3.42 MB | This Book has 98 Pages | The Download link of the book "Tatya Tope ki jivni" is given above, you can downlaod Tatya Tope ki jivni from the above link for free | Tatya Tope ki jivni is posted under following categories Biography, Uncategorized |


पुस्तक की श्रेणी : ,
पुस्तक का साइज : 3.42 MB
कुल पृष्ठ : 98

Search On Amazon यदि इस पेज में कोई त्रुटी हो तो कृपया नीचे कमेन्ट में सूचित करें |
पुस्तक का एक अंश नीचे दिया गया है : यह अंश मशीनी टाइपिंग है, इसमें त्रुटियाँ संभव हैं, इसे पुस्तक का हिस्सा न माना जाये |

1 घठगठी सी शभठपंछ बाली 1857 मैठ सी घगारूउ से पूरपंष हँंती भाठुगां चित छिव उांडीशा उपे ठै णिठिगा नासा दे । छिव पी छिएठां छा. ठां केपटी ठठीं मी नाठर घपठ 1857 सी ठगटबी-धटठाबों दे छैएठां है वुभठभी हे ढेठे दिस बँच वे धूरमिपी री घुरढडी डे थुचचा सिवा । छिप घतादउ डे थरिछों छैए घेरत रे ताना वे पनना घाननीवाह 11 से पव डॉ. रेड थुँउिठ ठगठा माखि से रतघाठती नठ । बाठुपव सी घगाइउ परगतठों उांडीगा उठेनी बठवे पेड सी डंन हे नवरठीछ घठ ताहे । 8िठठां सा ठप मिठड चिंदमडाठ डिस छठी. ठतीं घठि माठती दीं दिख भपनतुत उे जिन । 8िपठां से फपिंउत गभवे स़पनभत रिठठां री घताउती सा. छंपा भंठे मठ । बवठछ मिछीमठ शठमाठ हरैप छिप घताइव सी छठित से छिव पूखिडाली नेगी गभाठु मठ 1 मत नावनन ढातमट दे सिम है रिव बाधिठ गे जेग गाव मठिशा ै । छिव चत भापठिव शंविननी छिखियकवगत पठगनी बतम मटोडिंग हे उडी सी पूरमिमा बतासिगां विया है दि रिउ छिन घताबुूउ सा पैरा बीउा उमा छिव परचाठ परपुउ मी 1 फि दे उडी है सुठीगां सा भणणठ ग़ुठीछा गभाठु री दिया है । 1857 से से परणगठ गावुशां तपठी-झांपी गे उॉंडीगा उपे रिखे ठगटी- झगगी ठ निभासा युरिपी ठपिछ यंटी थत उांजीगा उप हे बातठमं भठि पहछउादरां ताठी झांती 3. फिभे पँधी दी थँट ठठीँ पठ । मरवि ठाठों झाननी रा पेराठ झामी बाछपी गराछीगव उँब ठी मी । वठपुठ उ वाननधंउाठा गे मंप बातउ उँब छंवी उठी सा छंणा परठदे परद । नवठैछ पठ रिएि वेनन ने भप बातउ दिस वितनी डे सा वाांडत मी ताठी इतनी हू पड डा धणमटठ बचि वे 8 सी लडिगाटी वठसा वै । छिप है भपपले शिव घंउ में छिम ठे मननत परे ले ठप छिविंगा पी दिख

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.