आयुर्वेदिक महाकोश | Ayurvedic Mahakosh

आयुर्वेदिक महाकोश | Ayurvedic Mahakosh

आयुर्वेदिक महाकोश | Ayurvedic Mahakosh के बारे में अधिक जानकारी :

इस पुस्तक का नाम : आयुर्वेदिक महाकोश है | इस पुस्तक के लेखक हैं : Narayan Hari Joshi And Veni madhav Sastri Joshi | Narayan Hari Joshi And Veni madhav Sastri Joshi की अन्य पुस्तकें पढने के लिए क्लिक करें : | इस पुस्तक का कुल साइज 06.4 MB है | पुस्तक में कुल 339 पृष्ठ हैं |नीचे आयुर्वेदिक महाकोश का डाउनलोड लिंक दिया गया है जहाँ से आप इस पुस्तक को मुफ्त डाउनलोड कर सकते हैं | आयुर्वेदिक महाकोश पुस्तक की श्रेणियां हैं : ayurveda

Name of the Book is : Ayurvedic Mahakosh | This Book is written by Narayan Hari Joshi And Veni madhav Sastri Joshi | To Read and Download More Books written by Narayan Hari Joshi And Veni madhav Sastri Joshi in Hindi, Please Click : | The size of this book is 06.4 MB | This Book has 339 Pages | The Download link of the book "Ayurvedic Mahakosh" is given above, you can downlaod Ayurvedic Mahakosh from the above link for free | Ayurvedic Mahakosh is posted under following categories ayurveda |


पुस्तक के लेखक :
पुस्तक की श्रेणी :
पुस्तक का साइज : 06.4 MB
कुल पृष्ठ : 339

Search On Amazon यदि इस पेज में कोई त्रुटी हो तो कृपया नीचे कमेन्ट में सूचित करें |
पुस्तक का एक अंश नीचे दिया गया है : यह अंश मशीनी टाइपिंग है, इसमें त्रुटियाँ संभव हैं, इसे पुस्तक का हिस्सा न माना जाये |

बयमत्र आयुर्वेदीय शब्दकोशस्य महाकोशात्मकस्यान्ते परिशिष्टात्मिकां पूरणिकां संपाद्य वाचकेभ्यो समर्पयामः आयुर्वेदीय शब्दकोशे सर्वेभ्य आयुर्वेदतंत्रेभ्यः मानवाधिष्ठितां चिकित्सा अवलंब्य प्रणीतेभ्यः परिभाषा संग्राह्यत्र समावेशयामः । हुस्त्यश्वादि वैद्यकतंत्रेषु प्रयुक्तानां पारिभाषिक शब्दानां मानवाधिष्ठित चिकित्साश्रित पारिभाषिक शब्दातिरिक्तानां अपि अस्यां पूरणि कायां संग्रहः कृतोऽस्ति अन्यच्च आयुर्वेदशब्दकोशे असमाविष्टानां केषांचित् मानबवैद्यकीय पारिभाषिकशब्दानामपि अस्यां पूरणिकायां उद्धारः कृतोऽस्ति न्यूनतापरिहाराय ।

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.