शब्द साधना | Shabd Sadhna

शब्द साधना | Shabd Sadhna

शब्द साधना | Shabd Sadhna के बारे में अधिक जानकारी :

इस पुस्तक का नाम : शब्द साधना है | इस पुस्तक के लेखक हैं : Babu Ramchandra Verma | Babu Ramchandra Verma की अन्य पुस्तकें पढने के लिए क्लिक करें : | इस पुस्तक का कुल साइज 31.2 MB है | पुस्तक में कुल 439 पृष्ठ हैं |नीचे शब्द साधना का डाउनलोड लिंक दिया गया है जहाँ से आप इस पुस्तक को मुफ्त डाउनलोड कर सकते हैं | शब्द साधना पुस्तक की श्रेणियां हैं : literature

Name of the Book is : Shabd Sadhna | This Book is written by Babu Ramchandra Verma | To Read and Download More Books written by Babu Ramchandra Verma in Hindi, Please Click : | The size of this book is 31.2 MB | This Book has 439 Pages | The Download link of the book "Shabd Sadhna " is given above, you can downlaod Shabd Sadhna from the above link for free | Shabd Sadhna is posted under following categories literature |


पुस्तक के लेखक :
पुस्तक की श्रेणी :
पुस्तक का साइज : 31.2 MB
कुल पृष्ठ : 439

Search On Amazon यदि इस पेज में कोई त्रुटी हो तो कृपया नीचे कमेन्ट में सूचित करें |
पुस्तक का एक अंश नीचे दिया गया है : यह अंश मशीनी टाइपिंग है, इसमें त्रुटियाँ संभव हैं, इसे पुस्तक का हिस्सा न माना जाये |

हमारे यहाँ का 'शब्द-ब्रह्यः पद बतलाता है कि किसी समय हम भारतीय लोग शब्दे और उनके अर्थों को कितना अधिक महत्त्वपूर्ण समझते थे । इधर बहुत दिने से हम शब्द को ‘ब्रह्म' मानना और ब्रह्म' ही की तरह उनकी उपास ना तथा साधना करना भूल गये हैं; और इसी लिए विद्या तथा साहित्य की दृष्टि से बहुत पीछे रह गये हैं। पाश्चात्य देशा मे अब ‘शब्द-अह्म की उपासना और साधना उसी प्रकार हो रही है, जिस प्रकार किसी समय प्राचीन भारत में होती थी । आज हमारे लिए फिर से शब्द-ब्रह्म का मप समझना बहुत - वश्यक हो गया है। उसी महत्त्व की ओर हिन्दीवाला का ध्यान आकृष्ट करने के लिए मेरा यह तुच्छ प्रयास है।

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.