अर्थशास्त्र पारिभाषिक शब्द-कोश | Arthashastra Paribhashik Shabda Kosh

अर्थशास्त्र पारिभाषिक शब्द-कोश | Arthashastra Paribhashik Shabda Kosh

अर्थशास्त्र पारिभाषिक शब्द-कोश | Arthashastra Paribhashik Shabda Kosh के बारे में अधिक जानकारी :

इस पुस्तक का नाम : अर्थशास्त्र पारिभाषिक शब्द-कोश है | इस पुस्तक के लेखक हैं : Rudra Datt | Rudra Datt की अन्य पुस्तकें पढने के लिए क्लिक करें : | इस पुस्तक का कुल साइज 7.6 MB है | पुस्तक में कुल 301 पृष्ठ हैं |नीचे अर्थशास्त्र पारिभाषिक शब्द-कोश का डाउनलोड लिंक दिया गया है जहाँ से आप इस पुस्तक को मुफ्त डाउनलोड कर सकते हैं | अर्थशास्त्र पारिभाषिक शब्द-कोश पुस्तक की श्रेणियां हैं : society

Name of the Book is : Arthashastra Paribhashik Shabda Kosh | This Book is written by Rudra Datt | To Read and Download More Books written by Rudra Datt in Hindi, Please Click : | The size of this book is 7.6 MB | This Book has 301 Pages | The Download link of the book "Arthashastra Paribhashik Shabda Kosh " is given above, you can downlaod Arthashastra Paribhashik Shabda Kosh from the above link for free | Arthashastra Paribhashik Shabda Kosh is posted under following categories society |


पुस्तक के लेखक :
पुस्तक की श्रेणी :
पुस्तक का साइज : 7.6 MB
कुल पृष्ठ : 301

Search On Amazon यदि इस पेज में कोई त्रुटी हो तो कृपया नीचे कमेन्ट में सूचित करें |
पुस्तक का एक अंश नीचे दिया गया है : यह अंश मशीनी टाइपिंग है, इसमें त्रुटियाँ संभव हैं, इसे पुस्तक का हिस्सा न माना जाये |

इस प्रकार बजट को जानबूझ कर असंतुलित करने की नीति का प्रयोग युद्धकाल में भी किया जाता है और शान्तिकाल में भी चूकि युद्ध-सम्बन्धी वस्तुएँ केवल सामूहिक माँग की तुष्टि करती हैं, इसलिए इस प्रक्रिया के कारण स्फीति-प्रभाव पैदा होता है परन्तु इस शब्द के प्रयोग को लाई कैन्जु नै यधिक लोकप्रिय बनाया । मन्दी-प्रेत अर्थव्यवस्था को आर्थिक संकट से निकालने के लिए सार्वजनिक विनियोग का विस्तार करना आवश्यक है और सार्वजनिक विनियोग के लिए कराधान द्वारा वित्त-प्रबन्ध करने की अपेक्षा उवार द्वारा वित्त-प्रबन्ध बेहतर है।

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.