खुराक की कमी और खेती | Khurak Ki Kami Aur Kheti

खुराक की कमी और खेती | Khurak Ki Kami Aur Kheti

खुराक की कमी और खेती | Khurak Ki Kami Aur Kheti के बारे में अधिक जानकारी :

इस पुस्तक का नाम : खुराक की कमी और खेती है | इस पुस्तक के लेखक हैं : Mahatma Gandhi | Mahatma Gandhi की अन्य पुस्तकें पढने के लिए क्लिक करें : | इस पुस्तक का कुल साइज 9.7 MB है | पुस्तक में कुल 308 पृष्ठ हैं |नीचे खुराक की कमी और खेती का डाउनलोड लिंक दिया गया है जहाँ से आप इस पुस्तक को मुफ्त डाउनलोड कर सकते हैं | खुराक की कमी और खेती पुस्तक की श्रेणियां हैं : Knowledge, science

Name of the Book is : Khurak Ki Kami Aur Kheti | This Book is written by Mahatma Gandhi | To Read and Download More Books written by Mahatma Gandhi in Hindi, Please Click : | The size of this book is 9.7 MB | This Book has 308 Pages | The Download link of the book "Khurak Ki Kami Aur Kheti " is given above, you can downlaod Khurak Ki Kami Aur Kheti from the above link for free | Khurak Ki Kami Aur Kheti is posted under following categories Knowledge, science |


पुस्तक के लेखक :
पुस्तक की श्रेणी : ,
पुस्तक का साइज : 9.7 MB
कुल पृष्ठ : 308

Search On Amazon यदि इस पेज में कोई त्रुटी हो तो कृपया नीचे कमेन्ट में सूचित करें |
पुस्तक का एक अंश नीचे दिया गया है : यह अंश मशीनी टाइपिंग है, इसमें त्रुटियाँ संभव हैं, इसे पुस्तक का हिस्सा न माना जाये |

गांधीजीके सारे लेखोंका निचोड़ यही है कि खुराक्के मामलेमें हमें स्वावलम्बी होना चाहिये, और विदेशोंसे मददकी आशा न रखकर अपनी समस्यायें हमें खुद ही हल करनी चाहिये सुराककी कमीके बारेमें भुनका यह पक्का विश्वास था कि अगर हममें से हरलैक-गरीब और अमीर, किसान और व्यापारी, सरकार और जनता -- अपना अपना फ़ज़ पूरा करे, तो हमारे देशमें काफी अन्न पैदा हो सकता है और हमें बाहरसे भीख माँगनेकी ज़रूरत नहीं पड़ेगी झुनकी यह राय थी |

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.