वेदान्तसूत्र अध्याय- १ | Vedanta Sutra Adhyay- 1

वेदान्तसूत्र अध्याय- १ | Vedanta Sutra Adhyay- 1

वेदान्तसूत्र अध्याय- १ | Vedanta Sutra Adhyay- 1 के बारे में अधिक जानकारी :

इस पुस्तक का नाम : वेदान्तसूत्र अध्याय- १ है | इस पुस्तक के लेखक हैं : Unknown | Unknown की अन्य पुस्तकें पढने के लिए क्लिक करें : | इस पुस्तक का कुल साइज 4.1 MB है | पुस्तक में कुल 800 पृष्ठ हैं |नीचे वेदान्तसूत्र अध्याय- १ का डाउनलोड लिंक दिया गया है जहाँ से आप इस पुस्तक को मुफ्त डाउनलोड कर सकते हैं | वेदान्तसूत्र अध्याय- १ पुस्तक की श्रेणियां हैं : dharm

Name of the Book is : Vedanta Sutra Adhyay- 1 | This Book is written by Unknown | To Read and Download More Books written by Unknown in Hindi, Please Click : | The size of this book is 4.1 MB | This Book has 800 Pages | The Download link of the book "Vedanta Sutra Adhyay- 1" is given above, you can downlaod Vedanta Sutra Adhyay- 1 from the above link for free | Vedanta Sutra Adhyay- 1 is posted under following categories dharm |


पुस्तक के लेखक :
पुस्तक की श्रेणी :
पुस्तक का साइज : 4.1 MB
कुल पृष्ठ : 800

Search On Amazon यदि इस पेज में कोई त्रुटी हो तो कृपया नीचे कमेन्ट में सूचित करें |
पुस्तक का एक अंश नीचे दिया गया है : यह अंश मशीनी टाइपिंग है, इसमें त्रुटियाँ संभव हैं, इसे पुस्तक का हिस्सा न माना जाये |

श्रीब्रह्म-माध्व-गौड़ीय-वैष्णव-सम्प्रदायके अमित प्रभावशाली आचार्यभास्कर श्रीश्रीलभक्तिविनोद-गौरकिशोर-सरस्वती ठाकुरके मनोऽभीष्टपूरक, श्रीगौरसुन्दरकी परम्परामें दशमाधस्तन एवं श्रीगौड़ीय वेदान्त समिति और उसके अधीन समग्र भारतव्यापी शाखा गौड़ीय मठोंके संस्थापक आचार्यकेशरी ॐ विष्णुपाद अष्टोत्तरशतश्री श्रीमद्भक्तिप्रज्ञान केशव गोस्वामी महाराजके परम प्रियतम पार्षद हमारे परमाराध्यातम श्रील गुरुदेव ॐ विष्णुपाद अष्टोत्तरशतश्री श्रीमद्भक्तिवेदान्त नारायण गोस्वामी महाराजकी अहेतुकी अनुकम्पा और प्रेरणासे आज श्रीगौड़ीय-वेदान्ताचार्य श्रील बलदेव विद्याभूषण प्रभु द्वारा विरचित गोविन्दभाष्य' एवं सूक्ष्मा-टीका' सहित महर्षि श्रीवेदव्यासकृत वेदान्तसूत्र' ग्रन्थ पाठकोंके सम्मुख प्रस्तुत करते हुए हम प्रचुर आन्तरिक आनन्दको अनुभव कर रहे हैं।

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.