बुद्धि – विलास | Buddhi – Vilas

बुद्धि – विलास | Buddhi – Vilas

बुद्धि – विलास | Buddhi – Vilas के बारे में अधिक जानकारी :

इस पुस्तक का नाम : बुद्धि – विलास है | इस पुस्तक के लेखक हैं : Achary Jinvijay Muni | Achary Jinvijay Muni की अन्य पुस्तकें पढने के लिए क्लिक करें : | इस पुस्तक का कुल साइज 4.05 MB है | पुस्तक में कुल 144 पृष्ठ हैं |नीचे बुद्धि – विलास का डाउनलोड लिंक दिया गया है जहाँ से आप इस पुस्तक को मुफ्त डाउनलोड कर सकते हैं | बुद्धि – विलास पुस्तक की श्रेणियां हैं : Granth

Name of the Book is : Buddhi – Vilas | This Book is written by Achary Jinvijay Muni | To Read and Download More Books written by Achary Jinvijay Muni in Hindi, Please Click : | The size of this book is 4.05 MB | This Book has 144 Pages | The Download link of the book " Buddhi – Vilas" is given above, you can downlaod Buddhi – Vilas from the above link for free | Buddhi – Vilas is posted under following categories Granth |


पुस्तक के लेखक :
पुस्तक की श्रेणी :
पुस्तक का साइज : 4.05 MB
कुल पृष्ठ : 144

Search On Amazon यदि इस पेज में कोई त्रुटी हो तो कृपया नीचे कमेन्ट में सूचित करें |
पुस्तक का एक अंश नीचे दिया गया है : यह अंश मशीनी टाइपिंग है, इसमें त्रुटियाँ संभव हैं, इसे पुस्तक का हिस्सा न माना जाये |

मांन-वस-भांन जयसाहि के समान स्याम, हरत गुमान निज दान सौं घनद के ॥ मोती अनहद के जराऊ साज सदके, कर हार रद के अनाथ दीन दरद के। जीन जवूनद के तुरंग करी-कद के, मतंग मति मद के कढत सदा' सदके ॥ चढी फौज करि कोप, भिरि भागे जट्टा प्रवल । नई चढी यह वोप, कछवाहन की तेग ॥ तिनकै पटि वैदै पुहमि, प्रथ्वीस्यघ नरिंद। सकग प्रजा पोषन मन, प्रगटे आय सुरिद ॥ छद भुजग उदै श्रग अंवावती पीठि उग्यौ,

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.